- Advertisement -
HomeRajasthan NewsSikar newsगहलोत सरकार ने फ्लोराइड फ्री पानी के लिए तैयार की 300 करोड़...

गहलोत सरकार ने फ्लोराइड फ्री पानी के लिए तैयार की 300 करोड़ की डीपीआर

- Advertisement -

सीकर. लक्ष्मणगढ़ व फतेहपुर विधानसभा सहित शेखावाटी अंचल (Shekhawati) के गांवों को फ्लोराइड मुक्त मीठा पानी (Fluoride free water) पिलाने की योजना के तहत अब घर-घर पानी पहुंचाने की डीपीआर बनाई गई है। इस योजना के तहत पहले गांव में एक ही जगह पानी पहुंचाकर गांव के लोगों को पानी पहुंचाना था, लेकिन, अब सरकार ने घोषणा की है कि इस योजना के तहत घर-घर पानी पहुंचाया जाएगा। 832 करोड़ रुपए की योजना का काम 2012 में तत्कालीन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समय ही शुरू हुआ था। इस योजना के तहत 300 करोड़ रुपए की डीपीआर को सरकार ने मंजूरी दी है। जिससे अब घर-घर पानी पहुंचाने की योजना है। यह बात फतेहपुर के विधायक हाकम अली ने आज प्रेसवार्ता में कही। उन्होंने कहा कि घर-घर पानी पहुंचने से लोगों पहले की योजना के मुताबिक एक जगह से पानी नहीं लाना पड़ेगा। यह राज्य सरकार की महत्ती योजना है। इससे पहले हाकम अली खान ने सीकर में भी प्रेसवार्ता को संबोधित किया। जिसमें उन्होंने फतेहपुर में सरकारी कॉलेज खोलने की घोषणा पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आभार जताया। वहीं, राज्य सरकार के बजट की भी भूरी भूरी प्रशंसा की।
जगह जगह हुआ स्वागतफतेहपुर में सरकारी कॉलेज की घोषणा के बाद आज फतेहपुर पहुंचे विधायक हाकम अली खान का जगह जगह कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने स्वागत सत्कार किया। सीकर में प्रवेश से शुरू हुआ यह सिलसिला फतेहपुर तक जारी रहा। जहां काफी संख्या में कार्यकर्ता माला पहनाकर विधायक हाकम अली का स्वागत कर कॉलेज के लिए बधाई देते नजर आए।
 
खाटूश्यामजी में एक लाख लोगों ने बिना मास्क के नवाया शीशसीकर. पूरी दुनिया जहां कोरोना के कहर से डरी हुई है। वहीं, हमारे देश में आस्था उस पर भारी पड़ती दिख रही है। खाटूश्यामजी में इसका उदाहरण देखने को मिल रहा है। जहां कोरोना के डर से स्कूल, कॉलेज जरूर बंद है, लेकिन बाबा श्याम के दर्शनों के लिए श्रद्धालुओं का हुजूम कम होने की बजाय बढ़ता जा रहा है। बाबा श्याम का लक्खी मेला व यहां की प्रसिद्ध होली निकलने के बाद भी यहां दुनियाभर के लोगों के पहुंचने का सिलसिला जारी है। पिछले दो दिन की ही बात करें तो करीब एक लाख से भी ज्यादा श्रद्धालुओं ने बाबा श्याम के मंदिर पहुंचकर धोक लगाई है। इनमें से हजारों श्रद्धालुु तो रींगस से निशान लेकर पैदल चलकर श्याम नगरी पहुंचे। वहीं, यह सिलसिला समाचार लिखे जाने तक भी लगातार जारी है।
कुछ ही लगा रहे मास्क, बाकी को बाबा श्याम की आस खाटू पहुंच रहे कुछेक भक्तों के मुंह पर ही मास्क नजर आया। पत्रिका को दिल्ली से आए प्रेम अग्रवाल ने बताया कि बाबा के दरबार में बीमारियां दूर हो जाती हैं। जयपुर के अमित शर्मा ने बताया कि खाटू के कण कण में श्याम बसा है तो बीमारी से क्यों डरना। कोलकाता की संतोष अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने बाबा श्याम से इस बीमारी को जड़ से खत्म करने की कामना की है।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -