मौजूदा कंडीसन में गरीबों तक कैसे पहुंचे कैश-खाना,चिदंबरम ने बताया प्लान.राहुल ने भी दिए सुझाव

Advertisement
class="adsbygoogle" style="background:none;display:inline-block;max-width:800px;width:100%;height:250px;max-height:250px;" data-ad-client="ca-pub-7665904324993199" data-ad-slot="5413907774" data-ad-format="auto" data-full-width-responsive="true">

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कोरोनावायरस के खतरे के बीच देश में मौजूदा 21 दिन के लॉकडाउन को लेकर एक बयान जारी किया है.

इस बयान में चिंदबरम ने कहा है,हमें मौजूदा राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को एक नई लड़ाई की शुरुआत के तौर पर देखना चाहिए, जिसमें लोग पैदल सैनिक हैं और पीएम कमांडर हैं. इसके साथ ही चिदंबरम ने लॉकडाउन के दौरान गरीबों और जरूरतमंदों के हाथों में जल्दी से कैश और खाना पहुंचाने के इरादे से सरकार को 10 सूत्रीय योजना का भी सुझाव दिया है.

चिदंबरम ने सुझाया ये प्लान

पीएम किसान योजना के तहत पेड/पेएबल राशि को दोगुना (12000 रुपये) किया जाए और हर लाभार्थी के बैंक अकाउंट में अतिरिक्त राशि को तुरंत ट्रांसफर किया जाए पीएम किसान योजना के अंदर पट्टेधारी किसानों को भी लाया जाए. राज्य सरकारों से लिस्ट ली जाए और हर पट्टेधारी किसान के बैंक अकाउंट में 6000+6000 रुपये (दो किश्तों में) ट्रांसफर किए जाएं रजिस्टर्ड MGNREGA वर्कर्स की लिस्ट ली जाएं और हर लाभार्थी के बैंक अकाउंट में 3000 रुपये की राशि ट्रांसफर की जाए शहरी गरीबों के लिए, बैंकों की शहरी ब्रांचों से जन धन अकाउंट्स की जानकारी ली जाए और हर लाभार्थी के अकाउंट में 6000 रुपये जमा किए जाएं. (जन धन अकाउंट्स की पहचान करते वक्त उन ‘जीरो बैलेंस अकाउंट्स’ को शामिल करना न भूलें जो जन धन योजना के लॉन्च होने से पहले खोले गए थे.) अगले 21 दिन में एक बार, राशन की दुकानों के जरिए हर राशन कार्ड धारक को 10 किलो चावल या गेहूं बिल्कुल मुफ्त दिया जाए. होम डिलीवरी की भी व्यवस्था की जाए. रजिस्टर्ड एप्लॉयर्स (किसी भी कानून के तहत रजिस्टर्ड) से नौकरियों और वेजेज के मौजूदा स्तर को बरकरार रखने के लिए कहा जाए. ऐसे एप्लॉयर्स को गारंटी दी जाए कि भुगतान के 30 दिनों के अंदर कर्मचारियों के वेजेज की भरपाई सरकार की तरफ से कर दी जाएगी हर वॉर्ड या ब्लॉक स्तर में एक रजिस्टर खोला जाए और उसमें अपना नाम, पता और आधार नंबर दर्ज कराने के लिए ऐसे लोगों को आमंत्रित किया जाए, जिनको ऊपर दी गई किसी भी कैटिगरी के तहत भुगतान ना किया गया हो. इस कैटिगरी में सड़कों पर रहने वाले और अभावग्रस्त लोग आएंगे. न्यूनतम वेरिफिकेशन के बाद हर नाम पर एक बैंक अकाउंट खोला जाए (अगर पहले से नहीं है), इसे आधार के साथ जोड़ा जाए और हर बैंक अकाउंट में 3-3 हजार रुपये ट्रांसफर किए जाएं किसी भी तरह के टैक्स के भुगतान के लिए आखिरी तारीख को 30 जून 2020 तक बढ़ाया जाए. अंतरिम तौर पर, बैंकों को पंचायतों, नगर पालिकाओं और कॉरपोरेशन्स को टैक्स रिसीवेबल्स की सिक्योरिटी पर ब्याज देने के लिए निर्देश दिया जा सकता है बैंकों को निर्देश दिया जाए कि वो किसी भी तरह की EMI के भुगतान की तारीख को 30 जून 2020 तक बढ़ा दें 1 अप्रैल से 30 जून 2020 की अवधि के लिए, सभी जरूरी सामानों और सेवाओं, मास कन्जम्प्शन वाले सामानों पर जीएसटी दरों में 5 फीसदी की कटौती की जाए

आपको बतादे कि मोदी सरकार को सुझाव देते हुए राहुल गांधी ने कहा कि दिहाड़ी मजदूरों को फौरन सहायता चाहिए.उनके अकाउंट में सीधे कैश ट्रांसफर हो। राशन मुफ्त उपलब्ध हो.इसमें कोई भी देरी विनाशकारी होगा.कांग्रेस नेता राहुल गांधी कोरोना संकट के बीच केंद्र की मोदी सरकार को कई जरूरी सुझाव दिए हैं.उन्होंने ट्वीट कर कहा,हमारा देश कोरोना वायरस से युद्ध लड़ रहा है.आज सवाल यह है कि हम ऐसा क्या करें के कम से कम जानें जाएं? स्तिथि को नियंत्रण में करने के लिए सरकार की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है.मेरा मानना है कि हमारी रणनीति दो हिस्सों में बंटी होनी चाहिए.

राहुल गांधी ने आगे ट्वीट कर कहा,कोरोना वायरस से जमकर जूझना, a. संक्रमण रोकने के लिए एकांत में रहना और बड़े पैमाने पर मरीजो की टेस्टिंग करना. b. शहरी इलाक़ों में विशाल आपातकालीन अस्थाई हॉस्पिटल का तुरंत विस्तार करना.इन चिकित्सा क्षेत्रों में पूर्ण आईसीयू की सुविधा उपलब्ध हो.

राहुल गांधी ने कहा कि कोरोना वायरस से जंग में दूसरा हिस्सा अर्थव्यवस्था से जुड़ा है.उन्होंने कहा, a. दिहाड़ी मजदूरों को फौरन सहायता चाहिए। उनके अकाउंट में सीधे कैश ट्रांसफर हो.राशन मुफ्त उपलब्ध हो.इसमें कोई भी देरी विनाशकारी होगा.b. व्यापार ठप है.टैक्स छूट मिले, आर्थिक सहायता भी मिले ताकि नौकरियां बच जाएं.छोटे-बड़े व्यापारियों को ठोस सरकारी आश्वासन मिले

आपको बता दे कि आपको बतादे कि पीएम मोदी ने 24 मार्च को ऐलान किया है कि पूरे देश में अब अगले 21 दिनों तक लॉकडाउन रहेगा. इसके पहले पीएम मोदी ने जिस जनता कर्फ्यू के लिए कहा था ये उससे भी ज्यादा सख्त है. पीएम मोदी ने कहा कि 21 दिनों के लिए ये लॉकडाउन कर्फ्यू की तरह ही होगा. कुछ लोग जरूरी चीजें लेने के लिए सावधानियां बरतते हुए निकल रहे हैं. वहीं पुलिस भी सख्ती बरत रही है. रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड, एयरपोर्ट पर सन्नाटा पसरा है.

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री मोदी से अपनी न्यूनतम आय गारंटी योजना ‘न्याय’ को लागू करने की मांग की है, जिसका पार्टी ने वादा किया था.कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस के संकट के कारण किसानों, मजदूरों और गरीबों के सामने पैदा हुई मुश्किल को दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘न्यूनतम आय गारंटी योजना’ (न्याय) लागू करना चाहिए.कांग्रेस ने अपनी घोषणापत्र में कहा था कि देश में 20 प्रतिशत गरीब परिवारों को न्यूनतम आय योजना (न्याय) के हिस्से के रूप में 72,000 रुपये सालाना मिलेंगे.कांग्रेस ने #IndiaMaangeNyay हैशटैग में कांग्रेस नेता राहुल गांधी का बयान सुनाते हुए मोदी सरकार को न्याय योजना की याद दिलाई. कांग्रेस ने अगले ट्वीट में कहा,कोरोना वायरस को लेकर राष्ट्र के नाम अपने पहले संबोधन में पीएम मोदी ने इकनोमिक टास्क फोर्स का दावा किया था, लेकिन उसकी स्थापना अभी तक नहीं हुई.क्या वित्तमंत्री सीतारमण स्पष्ट कर सकती है.

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 112 हुई

महाराष्ट्र में कोरोना वायरस पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़कर 112 हो गई है. सांगली जिला प्रशासन ने नागरिकों को कॉल पर आवश्यक वस्तुओं की होम डिलीवरी देने के लिए अपना फोन नंबर जारी किया है. पुलिस कर्मी और जिला प्रशासन डिलीवरी की सुविधा प्रदान करेगा। कुपवाड़, मिराज और सांगली शहर में सेवाएं प्रदान की जा रही है.

class="adsbygoogle" style="background:none;display:inline-block;max-width:800px;width:100%;height:200px;max-height:200px;" data-ad-client="ca-pub-7665904324993199" data-ad-slot="5413907774" data-ad-format="auto" data-full-width-responsive="true">

बिहार में एक और नया मामला आया सामने

पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में एक और व्यक्ति का कोरोना वायरस टेस्ट पॉजिटिव आया है. राज्य में कुल मामलों की संख्या बढ़कर 4 हो गई है. पटना नालंदा मेडिकल कॉलेज के नोडल ऑफिसर अजय सिन्हा ने बताया कि कोरोना वायरस पॉजिटिव व्यक्ति की उम्र 29 साल है. वो गुजरात के भावनगर से आया है. प्रशासन उसकी ट्रैवल हिस्ट्री की जांच विस्तार करेगा.

जम्मू-कश्मीर में महंगा पड़ा लोगों को बाहर निकलना

जम्मू और कश्मीर में जो लोग लॉकडाउन के दौरान पाबंदियां को नजरअंदाज कर सड़क पड़ घूम रहे थे उन्हें पुलिस ने सड़क पर गोल घेरा बनाकर बिठा दिया.

मध्यप्रदेश में नए मामले आए सामने

मध्य प्रदेश में सराकरी आंकड़े की माने तो 9 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं. हालांकि इंदौर में पांच लोगों का COVID19 टेस्ट पॉजिटिव आया. पांच में से चार इंदौर और एक उज्जैन से.

उत्तर प्रदेश में एक और नया मामला

पीलीभीत के एक 33 साल के शख्स को कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया है. किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी, लखनऊ के डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि पाड़ित कहीं भी देश से बाहर नहीं गए थे, उनका कोई यात्रा इतिहास नहीं है, यह कॉनटैक्ट ट्रांसमीशन का मामला है, मतलब किसी दूसरे पॉजिटिव मरीज के संपर्क में आने के बाद ये फैला है.

वहीं यमुना एक्सप्रेसवे को बंद कर दिया गया है. वहां बैरिकेडिंग लगा दी गई है. सही वजह होने के बाद ही लोगों को जाने दिया जाएगा. आपातकालीन सेवाओं के लिए एक्सप्रेसवे चालू रहेगा.

Thought of Nation राष्ट्र के विचार
The post मौजूदा कंडीसन में गरीबों तक कैसे पहुंचे कैश-खाना,चिदंबरम ने बताया प्लान.राहुल ने भी दिए सुझाव appeared first on Thought of Nation.

Advertisement

Comments are closed.