- Advertisement -
HomeRajasthan NewsSikar newsबास्योड़ा पर ठंडे पकवानों से शीतला को रिझाया

बास्योड़ा पर ठंडे पकवानों से शीतला को रिझाया

- Advertisement -

सीकर. बच्चों बीमारियों से बचाने और शीतला माता को शीतलता पहुंचाने के लिए रविवार को भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी। शीतला सप्तमी पर यहां शीतला चौक में स्थित मंदिर में हजारों भक्तों ने माता के दर्शन कर आशीर्वाद लिया। मंदिर में शनिवार रात से ही महिलाओं की कतार लग गई। …म्हारी सेडल माता..जैसे भजन गाते हुए महिलाएं हाथ में पूजा की थाली लेकर मंदिर पहुंची और वहां बास्योड़ा का भोग लगाया। दिन उगने के साथ ही श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ गई। लम्बी कतार लगाकर श्रद्धालुओं ने माता के दर्शन कर पत्थवारी की पूजा की। इस दौरान वहां मेले का माहौल रहा। श्रद्धालुओं ने दर्शन के बाद खिलौनों आदि की खरीददारी की।
घरों में खाया ठंडा भोजन
श्रद्धालुओं ने शीतला सप्तमी पर व्रत रखकर ठंडा भोजन खाया। इसके लिए शनिवार को रांधा-पुआ पर ही महिलाओं ने घरों में पकवान बना लिए थे। दिन भर इन्हीं पकवानों का भोजन किया गया। घरों में चूल्हा नहीं जलाया गया। ऐसे में चाय तक नहीं बनी। वहीं शीतला मंदिर में शाही लवाजमे के साथ कुंडारे का भोग लगाया गया। यहां कल्याणजी के मंदिर से शुरू हुई कुंडारा यात्रा शीतला मंदिर पहुंची वहां पर कुंडारा अर्पित किया गया।
भोर तक जमा गिंदड़ का रंग
शीतला चौक में शनिवार रात गिंदड़ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। नंगारे की रिद्म पर लोग रातभर गिंदड़ खेलते रहे। गिंदड़ का दौर सुबह तक चला। बाद में आयोजन समिति की ओर से विजेताओं को पुरस्कार दिए गए।
गूंजने लगे गणगौर के गीतहोली के बाद अब गणगौर के गीत गूंजने लगे हैं। गणगौर पूजन की शुरूआत युवतियों ने होली का दहन की राख की पिंडिया बनाकर की थी। शीतला पूजन के बाद गणगौर पूजन करने वाली बालिकाओं ने मिट्टी की गणगौर बना कर पूजा शुरू कर दी। अब घरों में गणगौर का बिंदौरा, गुड़ला आदि परवान पर रहेंगे। बालिकाएं सुबह गणगौर पूजन के लिए पार्कों से दूब लेकर आएगी।

- Advertisement -
- Advertisement -
Stay Connected
16,985FansLike
2,458FollowersFollow
61,453SubscribersSubscribe
Must Read
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -